Dance Quotes In Hindi | नृत्य पर अनमोल विचार {2023}

Dance Quotes In Hindi दोस्तों, डांस करना सबको अच्छा लगता है हामरे भारत के साथ-साथ विदेशों में भी डांस बहुत पसंद किया जाता है डांस करने में हमारा शरीर ऊर्जा और फिट रहता है और डांस एक ऐसी कला है जिससे मन खुस और शरीर स्वस्थ हो जाता है नृत्य को २ भागो ने बाता गया है शाहत्रीय नृत्य और लोकनृत्य | साथ ही इसलिए आज हम डांस से जुड़े कुछ ऐसे ही व्हाट्सएप स्टैट्स कलेक्शन Whatsapp Dance Status In Hindi, लाए हैं इन्हे आप फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, पर अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हो |

Dance Quotes In Hindi

Dance Quotes In Hindi

दिमाग में चल रहा नृत्य विचारों का,
दिल भटक रहा यहाँ बंजारों स।।

मयूर सा मन नाचता है,
जो कोई मन मीत मिल जाता है।।

दुनिया की सबसे लोकप्रिय एवं,
अविवादित भाषा है संगीत।।

नृत्य करना एक साधना है,
यह ईश्वर की आराधना है।।

जब तक आप नृत्य करते हैं
तब तक आप जीवित रहते हैं ||

प्रकृति सम्पूर्ण संगीत है,
जीवन महज एक नृत्य है।।

नृत्य एक क्षैतिज इच्छा की
लंबवत अभिव्यक्ति है ||

यदि विश्व को बदलना है,
तो केवल संगीत यह कार्य कर रखता है।।

खुद को व्यक्त करने
का सबसे अच्छा तरीका नृत्य है ||

मस्तिष्क में नृत्य करते है जब विचार,
हृदय भी भावुक हो जाता है कई बार।।

नृत्य करना मेरे जीवन
के सबसे ख़ुशी के पल रहे है ||

तुम्हारा जिक्र हो और दिल उछल पड़े,
कहीं यही तो नही परिभाषा नृत्य की।।

प्रकृति सम्पूर्ण संगीत है
जीवन महज़ एक नृत्य है ||

नृत्य और दौड़ ख़ुशी के
रसायन को बढ़ा देते है ||

संगीत मृत व्यक्ति को जीवित,
करने का साहस रखता है।।

आप संगीत को छू नहीं सकते,
लेकिन संगीत आपको छू सकता है।।

जिन्दगी में अच्छे लोगो से मिलना है,
तो नृत्य करना सीख लीजिये।।

जब नाचने न आयें,
तो आंगन ही टेढ़ा हो जायें ||

जैसे गीत बिना नृत्य अधूरा है,
तुम बिना मेर जीवन कहाँ पूरा है।।

जब नाचने न आयें,
तो आंगन ही टेढ़ा हो जायें।।

शादी में जब भी मिले चांस,
तो आप जरूर करें डांस।।

जीवन का मीठा सत्य है,
जीवन भी एक नृत्य है।।

मेरे जीवन का यही आधार है,
क्या तुमको भी नृत्य से प्यार है।।

दुनिया के मेले में सब है नाचते,
जिन्दगी में सबके आते है मुश्किल भरे रास्तें।।

यामिनी नृत्य कर रही जुगनुओं के प्रकाश में,
रातरानी मुस्कुरा रही नवयौवन की आस में।।

संगीत जुबां से नहीं दिल से गाया जाता है,
एवं इसे कानों से नहीं अपितु दिल से ही सुना जाता है।।

खुशियों से भरी जिन्दगी कई तरह से जी जाती है,
खूबसूरत नृत्य बड़ी शिद्दत से की जाती है।।

नृत्य के कला को जिसने समझा उसके लिए वरदान है,
जो इसे सिर्फ ‘नाच’ समझा वो इंसान बड़ा ही नादान है।।

आने से तेरे हर ख्वाब मेरे हसीन होने लगे,
लिपट कर गले लगे जो तेरे नृत्य हर रोम करने लगे।।

चाहे न चाहे जिदंगी हमसे उम्र भर नृत्य करवाती है,
नृत्य करते करते इंसान की पूरी उम्र निकल जाती है।।

नृत्य तो असंख्य गोपिकाएं करती थी भगवान श्रीकृष्ण के संग,
उन्हें लुभाने के लिए नहीं अपितु स्वयं को उनमे भुलाने के लिए।।

जरूरतें हर इंसान को नचाती है
, कोई पर्दे के आगे नाचता है
तो कोई पर्दे के पीछे नाचता है ||

जिनके बुरे विचार होते है
वो करते है बुरे कृत्य, जिनके विचार
खूबसूरत होते है वो करते है नृत्य

नृत्य मधुवन में आज प्रीतम
को धुंघरु साज त्याग के अंग रंग
लाज नृत्य करुं हे अधिराज ||

आज फिर से उसके कदम
थिरकने लगे, जब बेड़ियाँ
धुंघरुओं का रूप लेने लगे ||

कथन इनका भी सत्य है
कथन उनका भी सत्य है
जनता मान ले तो नृत्य है
ना माने तो राम नाम सत्य है

यदि आप अपनी आक्रामकता
को छोड़ना चाहते हैं,
तो उठो और नृत्य करो ||

नृत्य ख़ुशी का इजहार है,
ये राधा-कृष्ण का प्यार है,
प्रसन्नता का ये इकरार है,
नृत्य कलाओं का निहार है।।

वह थिरकती लौ आत्मा की
जो कण-कण में विराजित है,
नृत्य में नटराज ही
आदि कल से समाहित है।।

तुम्हारा जिक्र हो और दिल
उछल पड़े कहीं यही
तो नहीं परिभाषा नृत्य की ||

अहसास के रंग में डूब कर जब
चली कलम शब्द शब्द नृत्य करने
लगे और कविता बन गयी ||

यामिनी नृत्य कर रही जुगनुओं
के प्रकाश में, रातरानी मुस्कुरा
रही नवयौवन की आस में ||

ज़िन्दगी में कमियों को देख
निराश होकर बैठे रहने से अच्छा है
हम ज़िन्दगी की खूबियों को
देख खुश हो कर नाचें ||

य तो कला वरदान है
पर समझता समाज
इसको सिर्फ़ “नाच” है ||

राधा को कान्हा देखकर हो जाते थे
विदेह कान्हा की बांसुरी पे राधा
का मनमयूर करे नृत्य ||

जिंदगी का हर पल हो उत्सव
ऐसे कृत्य हो जाएं
कदम ऐसे पड़े धरती पर की
जीवन नृत्य हो जाए ||

नृत्य ख़ुशी का इजहार है,
ये राधा-कृष्ण का प्यार है,
प्रसन्नता का ये इकरार है
नृत्य कलाओं का निहार है ||

ऊर्जा से भरा योग है नृत्य,
हर लेता सारे रोग है नृत्य,
खुशियों का स्त्रोत है नृत्य,
जीवन जीने का शोध है नृत्य ||

जिनके बुरे विचार होते है
वो करते है बुरे कृत्य, जिनके विचार
खूबसूरत होते है वो करते है नृत्य ||

कथन इनका भी सत्य है
कथन उनका भी सत्य है
जनता मान ले तो नृत्य है
ना माने तो राम नाम सत्य है ||

किसी के नाचने में हरख होता है
मजबूरी के नाच में एक दर्द होता है
बंदगी,गुमान,शराब के नशे में नाचते हैं लोग
नाचने नाचने के भाव में फ़र्क होता है ||

ऊर्जा से भरा योग है नृत्य,
हर लेता सारे रोग है नृत्य,
खुशियों का स्त्रोत है नृत्य,
जीवन जीने का शोध है नृत्य।।

आपको सबसे बेहतर नृत्य
सीखने की आवश्यकता नहीं है
आपको ज़रुरत है रोज़
खुद से बेहतर नृत्य सीखने की ||

रक्स ना कर अपनी खुशी
पर इस कदर दूसरों का दर्द
भी तुझ ही से वाबस्ता है ||

चाहे न चाहे जिदंगी हमसे उम्र
भर नृत्य करवाती है, नृत्य करते
करते इंसान की पूरी उम्र निकल जाती है ||

नृत्य है एक ऐसी कला
जिसका ना कोई. मेल नृत्य है
एक ऐसी कला जो बच्चों का ना खेल ||

बहुत नाच लिये जंगल में मोर,
अब तुम जरा शहर में आओ,
नंगे बदन इन कलाकारों को
अब तुम नृत्य कला सिखलाओ ||

गीत ख़ुशी के गाते रही जीवन
उल्लसित ही नृत्य स्वयं
करने लगेगा ||

ज़िन्दगी में कमियों को देख
निराश होकर बैठे रहने से अच्छा है
हम ज़िन्दगी की खूबियों को
देख खुश हो कर नाचें ||

मैं किसी और से बेहतर
डांस करने की कोशिश नहीं
करता। मैं सिर्फ खुद से
बेहतर डांस करने की कोशिश करता हूं ||

सजदा अदा न कर सका
इस बात का ग़म नहीं
खुशी से झूमना भी दोस्तों
खुदा की इबादत से कम नहीं ||

जरूरतें हर इंसान को नचाती है
, कोई पर्दे के आगे नाचता है
तो कोई पर्दे के पीछे नाचता है||

जो लोग नृत्य करना बहुत पसंद करते हैं,
उनके सिर की तुलना में उनके
पैरों में अधिक दिमाग होता है ||

पहला नृत्य सबसे खराब नृत्य है;
अंतिम नृत्य सबसे अच्छा नृत्य है.
निरंतर अभ्यास के सभी मार्ग पूर्णता
की भूमि की ओर ले जाते है ||

क्रोध को समेट लेता है नृत्य,
मन को मोह लेता है नृत्य,
जीवन का एक अंग है नृत्य,
सुकून उसे मिलता है जिसके संग है नृत्य||

काम ऐसे करों जैसे कि तुम्हें पैसे की
जरूरत ही न हो. प्रेम ऐसे करो जैसे
आपको कभी चोट नहीं लगी. डांस
ऐसे करो जैसे कोई तुम्हे देख ही नहीं रहा है||

यह खोज आपके लिए है
कुछ यादगार बनाने के लिए,
सही नृत्य करने में समय लगता है||

आज भी नृत्य करती हूं। उसी को
दिखाने के लिए किन्तु वो इसे
भावनाओं का नाच समझे बैठा है
जाने क्यूं वह पुरुष प्रकृति को नहीं समझता ||

क्रोध को समेट लेता है नृत्य, मन को मोह
लेता है नृत्य, जीवन का एक अंग है
नृत्य, सुकून उसे मिलता है जिसके संग है नृत्य ||

“ हर इंसान के पैर पूरे जीवन में
सैकड़ो मील चलते है, नृत्य करने
वाले पैर इस दुनिया
में बहुत कम मिलते है ||

नृत्य करने पर घंघरू की
आवाज़ दे सुकून तेरे इत्र के
महकने पर एहसास ए प्यार का जुनून ||

नृत्य है एक ऐसी कला,
जिसका ना कोई मेल,
नृत्य है एक ऐसी कला,
जो बच्चों का ना खेल।।

जो तेरा हाल है वो मेरा
हाल है, हाल से हाल
मिला ताल से ताल मिला ||

मस्तिष्क में नृत्य करते है
जब विचार, हृदय भी भावुक
हो जाता है कई बार ||

एक चीज जो हमारी
अधिकांश समस्याओं
को हल कर सकती है
वह नृत्य है ||

आपको सबसे बेहतर नृत्य
सीखने की आवश्यकता नहीं है
आपको ज़रुरत है रोज़
खुद से बेहतर नृत्य सीखने की ||

जरूरतें हर इंसान को नचाती है,
कोई पर्दे के आगे नाचता है,
तो कोई पर्दे के पीछे नाचता है।।

नृत्य मेरी अभिलाषा है,
नृत्य ही मेरी भाषा है,
नृत्य मेरे लिए सम्मान है,
नृत्य ही मेरी पहचान है।।

क्रोध को समेट लेता है नृत्य,
मन को मोह लेता है नृत्य,
जीवन का एक अंग है नृत्य,
सुकून उसे मिलता है जिसके संग है नृत्य।।

यामिनी नृत्य कर रही जुगनुओं
के प्रकाश में, रातरानी मुस्कुरा
रही नवयौवन की आस में ||

करते मेरे शब्द नृत्य किसी रचना
की तलाश में मिल जाये वो
परिंदा मेरे किसी शब्दों की रचनाओं में ||

यामिनी नृत्य कर रही जुगनुओं
के प्रकाश में रातरानी मुस्कुरा
रही नवयौवन की आस में ||

आज भी तुम करती हो नृत्य
मेरे मन की भीगी सड़कों पर
जहाँ से कोई गुजरता नहीं अब ||

तुम्हें नाचने के लिए दो पांव
नहीं मेरी जान एक दिल चाहिए
जो भरा हो प्रेम से ||

नृत्य का शौक़ीन होना,
प्यार में पड़ने की दिशा
में निश्चित कदम था ||

दिमाग में चल रहा नृत्य
विचारों का दिल
भटक रहा यहाँ बंजारों सा ||

यह खोज आपके लिए है
कुछ यादगार बनाने के लिए,
सही नृत्य करने में समय लगता ह ||

एक चीज जो हमारी
अधिकांश समस्याओं
को हल कर सकती है
वह नृत्य है ||

नृत्य ख़ुशी का इजहार है,
ये राधा-कृष्ण का प्यार है,
प्रसन्नता का ये इकरार है
, नृत्य कलाओं का निहार है ||

मैं किसी और से बेहतर
डांस करने की कोशिश नहीं
करता। मैं सिर्फ खुद से
बेहतर डांस करने की कोशिश करता हूं ||

नृत्य दिवस चाहे कभी
भी मना लो ज़िंदगी तो
हर दिन नचायेगी ||

सजदा अदा न कर सका
इस बात का ग़म नहीं
खुशी से झूमना भी दोस्तों
खुदा की इबादत से कम नहीं ||

मसर्रत के तराने गा रहे हैं
दिल वाले घोड़े मुबारक हो दिल
,फिर से डांस करने लगे है वो थोड़े ||

नाचने का हुनर बचपन
में ही सीख लो, ये जिंदगी
वक़्त-बेवक्त बड़ा नचाती है ||

जब आप नृत्य करते है
, तो आप अपने होने के
विलासिता का आनंद ले सकते है
जब तक आप नृत्य करते हैं
तब तक आप जीवित रहते है ||

करते मेरे शब्द नृत्य किसी रचना
की तलाश में मिल जाये वो
परिंदा मेरे किसी शब्दों की रचनाओं में ||

तकदीर ने चाहा तकदीर ने बताया,
तकदीर ने आपको और हमको मिलाया,
खुशनसीब थे हम या वह पल,
जब आप जैसा हमसफर जिंदगी में आया ||

नृत्य के कला को जिसने समझा
उसके लिए वरदान है, जो इसे सिर्फ
‘नाच’ समझा वो इंसान बड़ा ही नादान है ||

जब आप नृत्य करते है
, तो आप अपने होने के
विलासिता का आनंद ले सकते है ||

दिमाग में चल रहा नृत्य
विचारों का दिल
भटक रहा यहाँ बंजारों सा ||

नृत्य मधुवन में आज प्रीतम
को धुंघरु साज त्याग के अंग रंग
लाज नृत्य करुं हे अधिराज ||

आने से तेरे हर ख्वाब मेरे
हसीन होने लगे, लिपट कर
गले लगे जो तेरे नृत्य हर रोम करने लगे ||

ये कौन सा नृत्य है जो निरंतर है
अविरल है हर निग्रह से मुक्त किस
अप्राप्य के लिए घूमता है विग्रह ||

जो शब्द ना अब तक कह पाए मेरे
घुंघरुओं ने दास्ताँ बताई है कौन कहता है
यह कोई डांस है मेरा मन जागा है
उसी की यह अंगड़ाई है ||

नृत्य में तल्लीन हो मेरे साथ की
अनुभूति करना मेरे हमनवां ‘ मैं
धुंघरुओं की झंकार बन नृत्य में
शामिल हो जाऊँगी मैं लौट आऊँगी ||

तुम्हारा जिक्र हो और
दिल उछल पड़े, कहीं
यही तो नही परिभाषा नृत्य की ||

खुशियों से भरी जिन्दगी
कई तरह से जी जाती है,
खूबसूरत नृत्य बड़ी
शिद्दत से की जाती है ||

जिन्दगी में अच्छे लोगो से
मिलना है, तो नृत्य करना सीख लीजिये
नाचने का हुनर बचपन में ही सीख लो,
ये जिंदगी वक़्त-बेवक्त बड़ा नचाती है।।

राधा को कान्हा देखकर हो जाते थे
विदेह कान्हा की बांसुरी पे राधा
का मनमयूर करे नृत्य
वो कुछ इस तरह अधूरा है
मेरे बिना जैसे की संगीत बिना नृत्य ||

कदम थिरकने लगे जो मेरे होठों पर तैरे मुस्कान,
तेरे आने की आहट से मचलें सब मेरे अरमान,
नृत्य करे जब रोम रोम कर दें सबकुछ नयन बयान,
होगी न प्रतीक्षा प्रियतम कर ले इन अधरों का पान।।

स्नेहपूर्ण प्यार से बंधी हैं रेशम सी डौर,
जिसके प्यार की सीमा का नहीं है छौर,
ले रहे हैं जो एक सपनों की उड़ान,
उनके प्यार की खुशबू महक रही है चारों ओर ||

खुशियों से तेरा आंगन छलकता रहे,
फूलों की वादियों से जीवन महकता रहे,
चांद सूरज है आसमान में जब तक,
तेरी जिंदगी का सितारा तब तक चमकता रहे ||

कोई भी परवाह नहीं करता है अगर
आप अच्छी तरह से नृत्य नहीं कर सकते है.
सिर्फ उठो और नृत्य करो. महान
नर्तक अपने जूनून के कारण महान है ||

मुद्दत से एक ठुमका देखने की ललक थी
आज देखना नसीब हो गया
अब तक तो था दिल से अमीर
आज दिल का गरीब हो गया ||

तकदीर ने चाहा तकदीर ने बताया,
तकदीर ने आपको और हमको मिलाया,
खुशनसीब थे हम या वह पल,
जब आप जैसा हमसफर जिंदगी में आया ||

जैसे अनगिनत तारों के साथ चांदनी हैं सजती,
कई परिवारों के साथ महफिले हैं बनती,
हँसी ठिठोली से जब गूँजता हैं प्रांगन,
तभी तो खिलता हैं शादी का आँगन ||

स्नेहपूर्ण प्यार से बंधी हैं रेशम सी डौर,
जिसके प्यार की सीमा का नहीं है छौर,
ले रहे हैं जो एक सपनों की उड़ान,
उनके प्यार की खुशबू महक रही है चारों ओर ||

खुशियों से तेरा आंगन छलकता रहे,
फूलों की वादियों से जीवन महकता रहे,
चांद सूरज है आसमान में जब तक,
तेरी जिंदगी का सितारा तब तक चमकता रहे ||

दर्दे दिल बयाँ करने हैं आये,
आखिर बार दुल्हे को समझाने हैं आये,
शादी नहीं हैं वो लड्डू जिसे खाकर बस मजा आये,
ये तो वो फंदा हैं जिस गले पड़े वो पछताये ||

नाचना रिंदगी भी होती है
नाचना खुदा की बंदगी भी होती है
कुछ पल झूम के देखो खुशी में तो
लगेगा कि नाचना जिंदगी भी होती है ||

कला की हम करते है कदर,गज़ल
हो या हमारी पायल,लिखे नज़्म
और थिर्के पैर भी,रहें ना इसके
बगैर अब,जहां मान चुके इसे हम रब ||

नोट :- दोस्तों नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करके आप Telegram channel को Join कर सकते हैं

इन्हे भी पड़े………

Leave a Comment